आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने की समस्याओं का समाधान करने की मांग

दीपक मिश्रा

आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों की समस्याएं दूर की जाएं-ममता बादल
हरिद्वार, 7 जून। उत्तराखण्ड राज्य आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ की पदाधिकारियों व सदस्यों ने जिला कार्यक्रम अधिकारी को जिला अधिकारी के नाम 19 सूत्रीय ज्ञापन देकर समस्याओं का समाधान करने की मांग की है। ज्ञापन की प्रति मुख्य विकास अधिकारी को भी भेजी गयी है।

ज्ञापन सौंपने के दौरान राज्य आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ की जिला अध्यक्ष ममता बादल ने बताया कि सरकार द्वारा संचालित कल्याणकारी योजनाओं को लागू करने में अहम भूमिका निभाने वाली आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। पांच महीने से आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को मानदेय नहीं मिला है। मानदेय की महीने वार पास बुक में एंट्री नहीं की जा रही है। जिससे यह पता नहीं चल पाता है कि किस महीने का मानदेय आया है, किस महीने का नहीं। किराए के भवनों में चल रहे आंगनबाड़ी केंद्रों के किराए की राशि दो वर्ष से नहीं मिली है।

किराया नहीं दे पाने पर भवन मालिकों द्वारा आंगनबाड़ी केंद्र संचालिकाओं को प्रताड़ित किया जा रहा है। कल्याणकारी योजनाओं के अंतर्गत बांटे जाने वाली सामग्री की ढुलाई का खर्च भी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को वहन करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि सभी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों एवं सहायिकाओं को नेशनल पेंशन स्कीम से जोड़ा जाए तथा सरकार भी इसमें योगदान करे। जिससे सेवानिवृत्ति पर सम्मानजनक राशि मिल सके।

उन्होंने कहा कि लाभार्थियों तक कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाने में अहम भूमिका निभाने वाली आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों की समस्याओं को गंभीरता से लेते हुए प्रशासन को समाधान करना चाहिए। ज्ञापन सौंपने के दौरान संघ की शहर महामंत्री वैशाली अरोड़ा, रमन वर्मा, आनन्द भारती, आशा अग्रवाल, आशा रानी, पूनम रानी, आशा काण्डपाल, चंचल, बीना, रश्मि, सरिता राजपूत, साधना, गीता देवनाथ आदि शामिल रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published.