जीएसटी अधिकारियों ने दी व्यापारियों को जानकारी आपसी समन्वय से ही समस्याओं को दूर किया जा सकता है-सुरेंद्र भटेजा

दीपक मिश्रा


हरिद्वार, 10 जून। हरिद्वार डिस्ट्रीब्यूटर्स एसोसिएशन की और से शंकर आश्रम स्थित होटल में आयोजित कार्यक्रम के दौरान जीएसटी के ज्वाइंट कमिश्नर अजय कुमार सिंह व कार्यपालक ज्वाइंट कमिश्नर वीर सिंह व वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी मनीष भट्ट, प्रधान सहायक लीलाधर ने जीएसटी के चलते व्यापारियों को आ रही परेशानी पर चर्चा करते भ्रांतियों को दूर किया। इसके पूर्व एसोसिएशन के अध्यक्ष सुरेंद्र भटेजा, उपाध्यक्ष सुरेश साहनी, महामंत्री संदीप वैष्णव, कोषाध्यक्ष तरूण भाटिया, संजय बजाज, दीपक कंसल, मनोज अग्रवाल, मयंक, अतुल गोयल, तरूण भाटिया आदि ने सभी अधिकारियों का बुके देकर स्वागत किया।

एसोसिएशन के अध्यक्ष सुरेंद्र भटेजा ने कहा कि जीएसटी को लेकर डिस्ट्रीब्यूटर्स कई भ्रांतियों से ग्रसित रहता है। लेनदेन बिल का आवागमन, टैक्स आदि की जानकारियां व्यापार करने वाले डिस्ट्रीब्यूटर्स को होनी चाहिए। जीएसटी के विभागीय अधिकारी समय समय पर डिस्ट्रीब्यूटर्स को जानकारियां पं्रदान कर सहयोग कर रहे हैं। जीएसटी के ज्वाइंट कमिश्नर अजय कुमार सिंह ने कहा कि वर्तमान स्थिति के अनुसार डिस्ट्रीब्यूटर्स को टीन नंबर अंकित, ट्रेड नेम, डाटा एंट्री को सही रूप से अंकित करना चाहिए। रजिस्ट्रेशन की जानकारियां प्रत्येक डिस्ट्रीब्यूटर्स को हों। जिससे व्यापार में किसी भी प्रकार की कोई गलती ना हो। वार्तालाप के माध्यम से ही भ्रांतियों का निदान हो सकता है। वर्तमान में राज्य के व्यापारियों को अपने लेन देन बिलों की सही जानकारी, सामान का आवागमन, टैक्स सभी की जानकारियां उपलब्ध होनी चाहिए। जुर्माने से बचने के लिए विभागीय अधिकारियों से कभी भी जानकारी ली जा सकती है।

समय समय पर व्यापारियों को मेल के माध्यम से भी जानकारियां उपलब्ध करायी जाती हैं। रजिस्ट्रेशन अवश्य होना चाहिए। व्यापार करने का सही आंकलन पर ही रजिस्ट्रेशन की सीमा निर्धारित है। इस अवसर पर संुनील अरोड़ा, शुभम अग्रवाल, मनोज अग्रवाल, अभिषेक, विपिन शर्मा, राजकुमार अरोड़ा, सागर आहूजा, अमित अरोड़ा, अमित, नितिन जैन, रमन वाधवा, संध्या जोशी, कमल अरोड़ा, शशी मनचंदा, अनिल ग्रोवर, निखिल गोयल, हरीश घींगड़ा, संजय, गौरव गाबा, राजेश गोयल, सुभाष कंसल, वीर सिंह, संजीव, धर्मेन्द्र, कार्तिक वर्मा, मनमोहन बंसल, रजनीकांत साही आदि व्यापारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.