श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल ने निर्मला छावनी में की अस्पताल की स्थापना

दीपक मिश्रा


हरिद्वार, 10 जून। विधानसभा अध्यक्ष रितु खंडूरी ने कहा है कि संत परंपरा भारत को महान बनाती है और अखाड़ों की गौरवशाली परंपरा विश्व विख्यात हैं। श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल शिक्षा सेवा के साथ-साथ चिकित्सा क्षेत्र में भी अपनी सहभागिता निभाकर समाज कल्याण में अपना योगदान प्रदान कर रहा है। जोकि सभी के लिए प्रेरणादायक है। विधानसभा अध्यक्ष श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल की छावनी में गरीब निराश्रित लोगों की सेवा के लिए अस्पताल के उद्घाटन अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर ही थी। विधानसभा अध्यक्ष रितु खंडूरी, पूर्व मुख्यमंत्री डा.रमेश पोखरियाल निशंक एवं कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल,

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष एवं श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी के सचिव श्रीमहंत रविन्द्रपुरी, श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल के अध्यक्ष श्रीमहंत ज्ञानदेव सिंह महाराज ने संत समाज के साथ दीप प्रज्वलित कर संयुक्त रुप से रिबन काटकर अस्पताल का उद्घाटन किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विधानसभा अध्यक्ष रितु खंडूरी ने कहा कि संतों का जीवन परमार्थ के लिए समर्पित रहता है। श्रीमहंत ज्ञानदेव सिंह महाराज वयोवृद्ध अवस्था में भी सेवा प्रकल्पों में निरंतर बढ़ोतरी कर अखाड़े को उन्नति की ओर अग्रसर कर रहे हैं। इससे युवा पीढ़ी को प्रेरणा लेनी चाहिए। पूर्व मुख्यमंत्री डा.रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि कोरोना काल में भी निर्मल अखाड़े द्वारा छावनी में मरीजों के लिए 200 बेड का हॉस्पिटल निःशुल्क रूप से तैयार किया गया था और आज स्थाई रूप से हॉस्पिटल का उद्घाटन किया गया है। हम सभी को अपने सामर्थ्य अनुसार राष्ट्र निर्माण में अपना सहयोग प्रदान करना चाहिए। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष एवं श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी के सचिव श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज ने कहा कि संतों का जीवन सेवा और परोपकार को ही समर्पित रहता है

और जब जब भी देश पर कोई विपत्ति आई है तो संत समाज देश के साथ कंधे से कंधा मिला कर खड़ा रहा है और अग्रणी भूमिका निभाकर राष्ट्र की सेवा में अपना सहयोग प्रदान किया है। नर सेवा ही नारायण सेवा के समान है। श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल सेवा के पुनीत कार्य कर रहा है। सभी संत महापुरुष श्रीमहंत ज्ञानदेव सिंह महाराज की दीर्घायु की कामना करते हैं। शहरी विकास मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा कि संतो के दर्शन मात्र से ही व्यक्ति का जीवन संवर जाता है और जब संतों की कृपा होती है। व्यक्ति का कल्याण अवश्य होता है। भाजपा सरकार लगातार एम्स हॉस्पिटल का निर्माण कर चिकित्सा क्षेत्र में समाज की सेवा कर रही है और जब संत समाज भी चिकित्सा क्षेत्र को सेवा के रूप में महत्व देता है तो यह राज सत्ता और धर्म सत्ता के समन्वय का एक अच्छा उदाहरण है। उन्होंने कहा कि धर्म सत्ता हमेशा ही राजसत्ता की मार्गदर्शक रही है और अखाड़ों से ही सनातन संस्कृति और धर्म का संरक्षण संवर्धन सुनिश्चित है। श्रीराम मंदिर निर्माण के संयोजक चंपत राय व विश्व हिंदू परिषद के दिनेश जी ने कहा कि समाज के जरूरतमंद की सेवा के लिए अस्पताल की स्थापना कर निर्मल पंचायती अखाड़े ने सराहनीय कार्य किया है। इसकी जितनी भी प्रशंसा की जाए कम है। उन्नाव सांसद महामण्डलेश्वर स्वामी हरि सच्चिदानंद साक्षी महाराज ने कहा कि श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल ने सदैव अग्रणी रहकर मानव सेवा में योगदान किया है।

अस्पताल की स्थापना अखाड़े की सेवा परंपरा की एक नई कड़ी है। उन्होंने कहा कि अखाड़े की परंपराओं से किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं की जाएगी। श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल के अध्यक्ष श्रीमहंत ज्ञानदेव सिंह महाराज ने सभी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि निर्मल अखाड़ा प्राचीन काल से ही अपने सेवा प्रकल्पांे के माध्यम से समाज को समरसता का संदेश देता चला रहा है। शिक्षा के साथ-साथ अखाड़े आश्रमों को चिकित्सा के क्षेत्र में भी आगे आकर सामर्थ्य अनुसार अपना सहयोग प्रदान करना चाहिए। संत महापुरुषों का अवतरण समाज के कल्याण के लिए ही होता है। श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल के कोठारी महंत जसविंदर सिंह महाराज ने कार्यक्रम में पधारे सभी संत महापुरुषों का फूल माला पहनाकर व स्मृति चिन्ह भेंटकर स्वागत किया और कहा कि अखाड़े की सेवा परंपरा को आगे बढ़ाते हुए शुरू किए जा रहे अस्पताल से जरूरतमंदों को लाभ होगा। इस अवसर पर श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन के श्रीमहंत रघुमुनि, उन्नाव सांसद महामंडलेश्वर सच्चिदानंद हरि साक्षी महाराज, निर्मल अखाड़े के सचिव महंत देवेंद्र सिंह शास्त्री,

महामंडलेश्वर स्वामी हरिचेतनानंद, महामंडलेश्वर स्वामी रूपेंद्र प्रकाश, बाबा हठयोगी, महंत दुर्गादास, महंत दामोदर दास, महंत निर्मल दास, महंत अरुण दास, स्वामी केशवानंद, महंत निर्भय सिंह, महंत खेम सिंह, महंत अमनदीप सिंह, महंत रंजय सिंह, बीबी विनिन्दर कौर सोढ़ी, समाजसेवी देवेंदर सिंह सोढ़ी, पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश जमदग्नि, हरिपुर की ग्राम प्रधान गीतांजलि जखमोला, मनोज जखमोला, समाजसेवी अतुल शर्मा सहित कई संत महापुरुष एवं गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.