संघ शिक्षा वर्ग के समापन पर सर कार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले करेंगे स्वयंसेवकों को संबोधित

दीपक मिश्रा


हरिद्वार, 10 जून। भेल सेक्टर दो स्थित सरस्वती विद्या मंदिर में आयोजित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पश्चिम उत्तर प्रदेश व उत्त्तराखण्ड का संघ शिक्षा वर्ग द्वितीय वर्ष का समापन शनिवार को भव्य कार्यक्रम के साथ होगा। कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सर कार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले स्वयंसेवकों को संबोधित करेंगे। आरएसएस के क्षेत्र प्रचार प्रमुख व वर्ग पालक पदम् ने बताया कि 22 मई से चल संघ शिक्षा वर्ग में पशिचम उत्तर प्रदेश व उत्त्तराखण्ड में विभिन्न जनपदों के 355 शिक्षार्थी प्रतिभाग कर रहे है। 60 शिक्षिकों द्वारा प्रतिभागियों को प्रशिक्षित किया जा रहा है।

जबकि 75 स्वयं सेवक व्यवस्था संभाल रहे हैं। 21 दिनों तक सामूहिक प्रयास से एक जुटता के साथ राष्ट्र चिंतन के लिए स्वयंसेवक अपने आप को तपा रहे है। 3 सप्ताह की कठोर शरीरिक-बौद्धिक साधना के बाद संघ के स्वयंसेवक राष्ट्र निर्माण में अपनी भूमिका निभाने के लिए तैयार हो रहे है। 11 जून को प्रशिक्षण सम्पन्न होने पर आयोजित होने वाले समापन समारोह में आरएसएस के शीर्ष अधिकारी सर कार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले का उद्बोधन व मार्गदर्शन प्रशिक्षणार्थीयों को मिलेगा। पदम् सिंह ने बताया कि वर्ग में लगे सभी स्वयंसेवको ने कड़ी मेहनत व लगन से 21 दिन इस चिलचिलाती गर्मी में अपने को समाज के लिए तैयार किया है।

वर्ग में शिक्षार्थीयों की सेवा में प्रत्यक्ष रूप से लगे स्वयंसेवको के अलावा समाज के सभी वर्गों ने खूब सहयोग किया। उन्होंने बताया कि वर्ग के दौरान प्रतिदिन सुबह-शाम, अलग-अलग क्षेत्रो से घर-घर से रोटियां एकत्र की गई। जिसमें समाज के सभी वर्गों ने बढ़ चढ़ कर भागेदारी की। 2 जून को प्रशिक्षार्थियों द्वारा शहर में निकाले गए पथ संचलन में जिस प्रकार समाज ने स्वयंसेवको का भव्य स्वागत किया उसे विभिन्न जनपदों से आये स्वयंसेवक कभी बुला नही पाएंगे। 4 जून को मातृहस्त भोजन में भी स्वयंसेवक अपने परिवार सहित आये और यहां शिक्षार्थीयों को मातृ प्रेम से स्नेह पूर्वक परिवार कि तरह भोजन कराया,

जो अपने आप मे अनूठा प्रयोग साबित हुआ। उन्होंने बताया कि घर-परिवार से दूर वर्ग के प्रतिभागियों के लिए मातृ प्रेम अतुलनीय अनुभूति प्रदान करने वाला रहा। इसी प्रकार 11 जून को होने वाले कार्यक्रम में प्रशिक्षित स्वयंसेवको का प्रदर्शन अनुशासन व दत्तात्रेयजी का उदबोधन सुनने के लिए समाज उतसाहित है। उन्होंने बताया कि समापन कार्यक्रम में जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी राजराजेश्वराश्रम महाराज का सानिध्य भी प्राप्त होगा। उन्होंने सभी से आग्रह किया कि समापन कार्यक्रम में उपस्थित रहकर संघ को समझने का प्रयास करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.