विधानसभा सभा बजट सत्र में होगी सवालों की बौछार, विधायकों ने भेजे 502 सवाल;14 जून से चलेगा सत्र

विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खण्डूड़ी ने कहा कि विधानसभा सत्र के दौरान रूट डायवर्ट किए जाने से आम लोगों को कोई परेशानी न हो इसके लिए समय रहते वैकल्पिक मार्ग चिह्नित कर लिए जाएं और आम लोगों की उसकी समय पर दे दी जाए। विधानसभा अध्यक्ष ने बताया कि अभी तक विधानसभा के पास बजट सत्र के लिए विधायकों की ओर से कुल  502 तारांकित एवं तारांकित प्रश्न प्राप्त हो चुके हैं। उन्होंने अधिकारियों को सत्र की सभी तैयारी पूरी करने के निर्देश दिए।

विधानसभा अध्यक्ष ने सोमवार को 14 जून से शुरू हो रहे बजट सत्र की  सुरक्षा एवं तैयारी व्यवस्था को लेकर अधिकारियों की बैठक ली। इस दौरान उन्होंने निर्देश दिए कि रुट डायवर्जन से लोगों को बहुत परेशानी होती है। ऐसे में आम लोगों को वैकल्पिक मार्गों की जानकारी मीडिया के जरिये पहले ही दे दी जाए।

उन्होंने कहा कि सत्र के दौरान विधायकों की संस्तुति पर एक प्रवेश पत्र तथा मंत्रियो की संस्तुति पर दो प्रवेश पत्र ही जारी किए जाएंगे।
उन्होंने विधानसभा और पुलिस के अधिकारियों को सुरक्षा व्यवस्था पूरी तरह से चाकचौबंद रखने के निर्देश दिए।  पत्रकारों से बातचीत के दौरान विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि कोरोना संक्रमण अभी पूरी तरह समाप्त नही हुआ है। ऐसे में सत्र के दौरान कोविड प्रोटोकोल के तहत मास्क एवं सैनिटाइजर का उपयोग करना सभी के लिए आवश्यक है।

विधानसभा अध्यक्ष ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सत्र के दौरान आम जनमानस को यातायात से संबंधित किसी भी प्रकार की समस्या ना हो। उन्होंने कहा कि विधानसभा सत्र की कार्यवाही की वेबकास्टिंग सूचना विभाग द्वारा कराए जाएगी।  विधायकों एवं मंत्रियों के वाहन ही परिसर में पार्क होंगे जबकि अन्य सभी   वाहन सत्र के दौरान बाहर पार्क होंगे। वाहन चालकों हेतु पब्लिक ऐड्रेस सिस्टम की व्यवस्था की जाएगी। सत्र के दौरान अग्निशमन, स्वास्थ्य विभाग को सभी व्यवस्थाएं करने को कहा गया है।

विधायकों के प्रोटोकॉल का ध्यान रखा जाए
विधानसभा अध्यक्ष ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि किसी भी विधायक के साथ ऐसा व्यवहार ना हो कि जिससे उनमें कोई नाराजगी उत्पन्न हो।  विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि हम सभी को आपसी समन्वय के साथ सत्र को सुचारू रूप से चलाना है जिससे कि सत्र के दौरान जनमानस एवं उत्तराखंड के विकास से संबंधित विषयों पर सदन में चिंतन हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.