बंद पड़ी फैक्ट्री में बनाते थे नामी कंपनियों की नकली दवा, चार गिरफ्तार;लाखों की दवाएं सीज

देश के अलग-अलग राज्यों में नेटवर्क फैला कर नकली दवाओं का धंधा करने वाले चार आरोपियों को नकली दवाइयां और कच्चे माल के साथ गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों के छह साथी अभी फरार हैं। भगवानपुर थाने में पुलिस क्षेत्राधिकारी मंगलौर पंकज गैरोला ने पत्रकार वार्ता में बताया कि भगवानपुर औद्योगिक क्षेत्र में एसटीएफ, स्थानीय पुलिस की टीम को सूचना मिली कि मंडावर चेक पोस्ट से एक अल्टो कार में सवार दो लोग नकली दवा लेकर आ रहे हैं।

आरोपियों को हिरासत में लिया गया। पूछताछ में उन्होंने अपना नाम नितिन प्रजापति निवासी मोहनपुरा डबल फाटक रुड़की और राशिद खान निवासी मोहल्ला कस्बा थाना धामपुर बिजनौर, हाल पता गुलाब नगर रामपुर चुंगी रुड़की बताया। पूछताछ में उन्होंने औद्योगिक क्षेत्र रायपुर में बंद पड़ी फैक्ट्री से नकली दवा बनाए जाने की बात बताई। टीम ने फैक्ट्री पर छापा मारकर संचित निवासी गणेशपुर रुड़की व रोहतास सैनी निवासी रोहना खास कोतवाली मुजफ्फरनगर को हिरासत में लेते हुए पूछताछ की।

तलाशी के दौरान भारी मात्रा में नकली दवा और कच्चा माल बरामद हुआ। पुलिस क्षेत्राधिकारी ने बताया कि कार सवार नितिन और राशिद कार से दवा को कोरियर करने के लिए जा रहे थे। तभी उन्हें गिरफ्तार किया गया। मामले में पंकज कुमार, विशाल कुमार, अजय कुमार, अश्वनी कुमार, अरुण कुमार, प्रदीप कुमार मौके से फरार हैं। गिरफ्तार आरोपियों को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है। फरार आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश जारी है।

यह रहे पुलिस टीम में शामिल
पुलिस टीम अब्दुल कलाम और शरद चंद गुसाईं निरीक्षक एसटीएफ देहरादून, मानवेंद्र सिंह औषधि निरीक्षक, भगवानपुर थाना प्रभारी निरीक्षक अमरजीत सिंह, उप निरीक्षक दीपक चौधरी, यजुवेंद्र सिंह विकास रावत, प्रवीण बेस्ट, विपिन कुमार, हेड कांस्टेबल चरणजीत सिंह, वेद प्रकाश भट्ट, प्रदीप चौहान, दीपक नेगी, विजेंद्र सिंह चौहान, महेंद्र सिंह, हरदयाल पवार, रवि दत्त, सुधीर चौधरी रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.